Introduction Of Samarpan Sanstha



        समर्पण संस्था का परिचय व कार्यक्रमों का संक्षिप्त विवरण.....

 

            ज़रूरतमंद ,असहाय व पीड़ित व्यक्तियों के लिए समर्पित समर्पण संस्था एक रजिस्टर्ड सामाजिक संस्था है जिसकी स्थापना नवम्बर, 2009 में की गई ।संस्था में सभी धर्म, जाति, मजहब के व्यक्ति सदस्य है। संस्था के पदाधिकारी सदस्यों का सामाजिक क्षेत्र में एक स्थान व मुकाम है।संस्था की नवगठित कार्यकारिणी मे कुल 27 सक्रिय सदस्य है।

            संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आर्किटेक्ट दौलत राम माल्या ए-वन आर्किटेक्ट्स प्रा.लि. के निदेशक है जो जयपुर व राजस्थान के अनेक शहरों में रिहायशी, वाणिज्यिक, संस्थानिक व व्यावसायिक भवनों के नक्शे डिजाइन कर निर्माण कर चुके हैं। श्री माल्या को समाज के लिए किये जा रहे उत्कृष्ट कार्यों के लिए देश विदेश की अनेक संस्थाये अवार्ड देकर सम्मानित कर चुकी है तथा हाल ही मे नेपाल के गांधी पीस फ़ाउन्डेशन ने अन्तराष्ट्रीय पीस एम्बेसडर नियुक्त किया है।

  संस्था द्वारा अब तक लगभग 84 कार्यक्रम मानव हितार्थ आयोजित किये जा चुके हैं। जिसमें 9 रक्तदान शिविर, 6 शिक्षा सहायता कार्यक्रमों में कुल 354 निर्धन जरूरतमंद विद्यार्थियों को किताबें , फ़ीस के चैक , यूनिफ़ॉर्म, नोटबुक्स, स्टेशनरी आदि उपलब्ध करवाना तथा 225 उत्कृष्ट कार्य करने वाली हस्तियों को ‘‘समर्पण समाज गौरव सम्मान’’ द्वारा सम्मानित करना प्रमुख कार्यक्रम है। अन्य कार्यक्रम सरकारी स्कूल के बच्चों को निःशुल्क अंग्रेजी पढ़ाना, निरक्षर महिलाओं को साक्षर करना, निःशुल्क चिकित्सा शिविर, पौधारोपण, योग शिविर, प्याऊ लगवाना, पक्षियों के लिए परिण्डे लगावाना, सामाजिक कुरीतियों पर परिचर्चा, ज्वलन्त मुद्दों पर प्रदर्शन, मैराथन में सदस्यों द्वारा परहित की भावना को लेकर दौड लगाना,गणतन्त्र दिवस व स्वतन्त्रता दिवस पर ध्वजारोहण के साथ विचार गोष्ठियाँ आयोजित करना आदि है।

  18 दिसम्बर 2016 को संस्था के 7वें वार्षिक अधिवेशन पर "कैशलेस सोसायटी के लिए डिजीटल जागरूकता प्रशिक्षण कार्यक्रम " भी परहित की भावना से किया गया ।

  7 जनवरी 2018 को प्रस्तावित समर्पण आश्रय केयर होम स्थल पर संस्था के 8 वें वार्षिक अधिवेशन के साथ एक नि:शुल्क नेत्र जाँच एवम् लेन्स प्रत्यारोपण शिविर व दानदाता सम्मान समारोह आयोजित किया गया ।

  संस्था द्वारा 9 वें वार्षिक अधिवेशन पर 18 नवम्बर 2018 को वस्त्र वितरण व दीपावली स्नेह मिलन समारोह आयोजित किया गया ।

   ज़रूरतमंदों के लिए सार्थक हो रहा है राजस्थान का पहला

   “ समर्पण वस्त्र बैंक “ 

  संस्था द्वारा अक्टूबर 2018 मे जयपुर शहर मे 25 वस्त्र संग्रहण केन्द्र बनाकर नये व पुराने वस्त्र एकत्रित किये गये । वस्त्रों को छाँटकर अलग अलग पैकेट तैयार किये गये । उसके बाद करतारपुरा स्थित 18 बी, श्री कल्याण नगर मे एक वस्त्र बैंक स्थापित किया गया ।वस्त्र बैंक मे कोई भी दानदाता नये व पुराने वस्त्र दान कर सकता है ।साथ ही कोई भी समाजसेवी या संस्था इस वस्त्र बैक से कपड़े इश्यू करवाकर ज़रूरतमंदों मे बाँट सकते है ।संस्था द्वारा अब तक जयपुर व आसपास के क्षेत्रों व अन्य जिलो मे लगभग 25 जगह वस्त्र वितरित किये जा चुके है ।

        संस्था का प्रस्तावित प्रोजेक्ट .....

     संस्था द्वारा आगामी समय मे " समर्पण आश्रय केयर " भवन बनाया जाना है जिसके लिए कानोता के पास साँभरिया रोड ( 200 फ़िट ) पर संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आर्किटेक्ट दौलत राम माल्या ने 525 वर्ग गज जमीन दान मे दी है । प्रस्तावित भवन के नक़्शे डिज़ाइन हो चुके है।भवन मे अनाथ बच्चे व ऐसे बुज़ुर्ग जिनके बच्चे नहीं है या पीड़ित है उनको साथ मे रखने की योजना है ।

     आश्रय केयर भवन स्थल पर बाउन्डरी, ट्यूबवेल ,टायलेट, मैन गेट आदि लगभग 4 लाख रूपये का कार्य सदस्यो के सहयोग किया जा चुका है ।

कार्यक्षेत्र :-   संस्था का कार्यक्षेत्र राजस्थान राज्य है। लेकिन सदस्यता कोई भी ले सकता है।

सरकारी सहायता :-  संस्था ने अब तक किसी प्रकार की सरकारी सहायता नहीं ली है। सभी कार्यक्रम सदस्यता शुल्क व दान द्वारा प्राप्त राशि द्वारा ही किये जा रहे हैं।

वेबसाइट :-  संस्था की बेबसाइट www.samarpansanstha.org  है। जिसका विमोचन सन 2010 में तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने किया था। वेबसाइट पर संस्था की सभी गतिविधियों के साथ सदस्यों का विवरण भी अपडेट रहता है।

स्मारिका :-  संस्था द्वारा अब तक चार स्मारिका ‘‘समर्पण 2010’’ ,‘‘समर्पण 2015’’ , " समर्पण 2017 " व “समर्पण 2019 “ प्रकाशित की जा चुकी है ।स्मारिका प्रकाशन केवल विज्ञापन द्वारा प्राप्त राशि से ही किया जाता है ।

सदस्य :-  संस्था में अब तक  17 मुख्य संरक्षक , 65 संरक्षक (आजीवन) सदस्य है। जो कि सामाजिक दृष्टि से प्रतिष्ठित है। 9 विशिष्ट (पांच वर्ष) सदस्य व  53 सम्मानीय सदस्य (वार्षिक) तथा 99 विद्यार्थी  (निःशुल्क) सदस्य है।

मीटिंग व कार्यक्रम :-  संस्था के सभी कार्यक्रम व मिटिंग्स की शुरूआत “समर्पण प्रार्थना “ के साथ होती है तथा समापन राष्ट्रगान के साथ किया जाता है। कार्यकर्ताओं के लिए यूनिफार्म सफेद टी शर्ट व कैप भी निर्धारित है। सदस्य आपस में मिलने पर ‘‘जय मंगल’’ का उद्घोष भी करते हैं। प्रत्येक दो वर्ष के बाद संस्था की कार्यकारिणी पुर्नगठित की जाती है।